Monthly Archives: May 2014

तेरे लिए “T” :)

                                एक जीवन को देखा है                              एक जीवन से यूँ आते हुए                              एक चमत्कार सा होते हुए                               एक फूल को यूँ इतराते हुए                                पहले सोचा क्या रक्खा था                                इससे पहले यूँ जीते थे                                और अब देखूं तो लगता है                                रंगों को यूँ खिलते...

spacer